Firewall क्या है ये कैसे काम करता है | इसके प्रकार क्या है | What is firewall in hindi 2023

दोस्तों हर गुजरते दिन के साथ Cyber Crimes की बढ़ती संख्या को देखते हुए, व्यक्तियों और कंपनियों को अपनी जानकारी सुरक्षित रखनी चाहिए। हालाँकि, इसे लागू करने में कई challenges है। Firewall एक ऐसा Security Device है जो आपके नेटवर्क और Device को किसी outsider व्यक्ति से सुरक्षित रखने में आपकी मदद कर सकता है। Firewall क्या है ये समझने आएगा और यह आपके नेटवर्क की सुरक्षा के लिए एक ढाल के रूप में कैसे कार्य करता है इसकी पूरी जानकारी इस article में मिलेगी तो ये article पूरा पढ़ो।

Firewall क्या है | What is firewall in hindi

Firewall एक Network security device है जो किसी organization द्वारा defined सुरक्षा policies का पालन करते हुए आने वाले और बाहर जाने वाले नेटवर्क ट्रैफ़िक को देखता और फ़िल्टर करता है। Mandatory रूप से, यह एक private internal नेटवर्क और सार्वजनिक इंटरनेट के बीच एक सुरक्षात्मक दीवार के रूप में कार्य करता है। Firewall के प्रकार कितने है ये भी इस article में पता चलेगा।

आपकी संपत्ति पर fence लगाने से आपके घर की सुरक्षा होती है और trespassers को दूर रखा जाता है, इसी तरह, फ़ायरवॉल का उपयोग कंप्यूटर नेटवर्क को सुरक्षित करने के लिए किया जाता है। फ़ायरवॉल नेटवर्क सुरक्षा systems हैं जो किसी नेटवर्क तक अनधिकृत पहुंच को रोकती है। यह एक हार्डवेयर या सॉफ़्टवेयर Unit हो सकती है जो Cyber crimes को पहचानने और रोकने के लिए नियमों के एक सेट के अनुसार, एक Personal नेटवर्क के भीतर आने वाले और बाहर जाने वाले ट्रैफ़िक को फ़िल्टर करती है।

फ़ायरवॉल का उपयोग enterprise और personal settings में किया जाता है। वे नेटवर्क सुरक्षा का एक महत्वपूर्ण घटक हैं। अधिकांश ऑपरेटिंग सिस्टम में एक basic underlying फ़ायरवॉल होता है। Third-party फ़ायरवॉल एप्लिकेशन का उपयोग बेहतर सुरक्षा प्रदान करता है।

Firewall kya hai

Firewall के प्रकार कितने है | How many types of firewall in hindi

Firewall के प्रकार कितने है या firewall के प्रकार हे या नहीं ये सवाल बहोत लोगो के मन में आता होगा तो इसका जवाब भी इस आर्टिकल में मिलेगा। फ़ायरवॉल या तो Software या Hardware हो सकता है। सॉफ़्टवेयर फ़ायरवॉल प्रत्येक कंप्यूटर पर स्थापित प्रोग्राम होते हैं, और वे Application और पोर्ट नंबरों के माध्यम से नेटवर्क ट्रैफ़िक को नियंत्रित करते हैं। इस बीच, हार्डवेयर फ़ायरवॉल gateway और आपके नेटवर्क के बीच स्थापित device हैं। Traffic Filtering methods, structure और Functionality के आधार पर फ़ायरवॉल कई प्रकार के होते है।

Packet Filtering

एक Packet Filtering फ़ायरवॉल नेटवर्क से डेटा प्रवाह को नियंत्रित करता है। यह पैकेट के source address, पैकेट के destination address, डेटा transfer करने के लिए एप्लिकेशन प्रोटोकॉल आदि के आधार पर डेटा transfer की अनुमति देता है या block करता है।

Proxy Service Firewall

Proxy Service फ़ायरवॉल application layer पर संदेशों को filter करके नेटवर्क की सुरक्षा करता है। किसी विशिष्ट application के लिए, Proxy फ़ायरवॉल एक नेटवर्क से दूसरे नेटवर्क तक प्रवेश द्वार के रूप में कार्य करता है।

Stateful Inspection

Stateful Inspection फ़ायरवॉल state, port और protocol के आधार पर नेटवर्क ट्रैफ़िक को अनुमति देता है या block करता है। यहां, administrator द्वारा परिभाषित नियमों और संदर्भ के आधार पर filtering का निर्णय लेता है।

Next-Generation Firewall

Next-Generation Firewall एक deep-packet निरीक्षण फ़ायरवॉल है जो port/protocol निरीक्षण और ब्लॉकिंग से beyond जाने के लिए फ़ायरवॉल के बाहर से application-level inspection, intrusion की Prevention और जानकारी जोड़ता है।

Unified Threat Management (UTM) Firewall

एक UTM डिवाइस generally एक स्टेटफुल inspection फ़ायरवॉल, intrusion की Prevention और एंटीवायरस की क्षमताओं को relaxed तरीके से एकीकृत करता है। इसमें अतिरिक्त सेवाएँ और, कई मामलों में, cloud प्रबंधन शामिल हो सकता है। UTM को सरल और उपयोग में आसान बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

Threat-Focused NGFW

Threat-Focused NGFW फ़ायरवॉल advanced threats का पता लगाने और Mitigation प्रदान करते हैं। नेटवर्क और endpoint घटना सहसंबंध के साथ, वे procrastination या Suspicious व्यवहार का पता लगा सकते हैं।

Firewall कैसे काम करता है | How Does a Firewall Work in hindi

फ़ायरवॉल एक Personal नेटवर्क के within नेटवर्क ट्रैफ़िक को फ़िल्टर करता है। यह विश्लेषण करता है कि नियमों के एक सेट के आधार पर किस ट्रैफ़िक को अनुमति दी जानी चाहिए या प्रतिबंधित किया जाना चाहिए। फ़ायरवॉल को अपने कंप्यूटर के entry point पर एक gatekeeper की तरह समझें जो केवल विश्वसनीय स्रोतों, या ip address को आपके नेटवर्क में प्रवेश करने की अनुमति देता है।

फ़ायरवॉल केवल उन आने वाले ट्रैफ़िक का स्वागत करता है जिन्हें स्वीकार करने के लिए configured किया गया है। यह अच्छे और दुर्भावनापूर्ण ट्रैफ़िक के बीच अंतर करता है और पूर्व-स्थापित सुरक्षा नियमों पर विशिष्ट डेटा पैकेट को या तो अनुमति देता है या block करता है। ये नियम पैकेट डेटा द्वारा point out several aspects पर आधारित हैं, जैसे उनका source, destination, content, इत्यादि। वे cyber crimes को रोकने के लिए Suspicious स्रोतों से आने वाले ट्रैफ़िक को रोकते हैं।

Firewall का उपयोग करने के फायदे क्या है | What are the advantages of using firewall in hindi

  • कंपनियों में सुरक्षा प्रबंधन के लिए फ़ायरवॉल एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
  • यह असुरक्षित सेवाओं से बेहतर सुरक्षा और confidentiality प्रदान करता है। यह अनधिकृत users को इंटरनेट से जुड़े personal नेटवर्क तक पहुंचने से रोकता है।
  • फ़ायरवॉल तेज़ प्रतिक्रिया समय प्रदान करते हैं और अधिक ट्रैफ़िक भार को संभाल सकते हैं।
  • फ़ायरवॉल आपको एक ही अधिकृत device से सुरक्षा प्रोटोकॉल को आसानी से संभालने और अपडेट करने की अनुमति देता है।
  • यह आपके नेटवर्क को phishing attacks से बचाता है।

Firewall का उपयोग करने के नुकसान क्या है | What are the Disadvantages of using firewall in hindi

  • Firewall users को दुर्भावनापूर्ण वेबसाइटों से डेटा या जानकारी तक पहुंचने से रोकने में सक्षम नहीं हैं, जिससे वे internal threats या हमलों के प्रति संवेदनशील हो जाते हैं।
  • यदि सुरक्षा नियमों को गलत तरीके से configure किया गया है, तो यह non-technical सुरक्षा जोखिमों (Social Engineering) के खिलाफ virus-infected फ़ाइलों या सॉफ़्टवेयर के स्थानांतरण से रक्षा करने में सक्षम नहीं है।
  • यह पासवर्ड के दुरुपयोग और मॉडेम वाले attackers को internal नेटवर्क में या बाहर डायल करने से नहीं रोकता है।
  • पहले से ही infected सिस्टम फ़ायरवॉल द्वारा सुरक्षित नहीं हैं।

Firewall और Antivirus में क्या फरक है | What is the difference between firewall and antivirus in hindi

Firewall

  • फ़ायरवॉल network security में आवश्यक सॉफ़्टवेयर या firmware है जिसका उपयोग नेटवर्क तक unauthorized access को रोकने के लिए किया जाता है।
  • इसका उपयोग सॉफ़्टवेयर या हार्डवेयर रूप में लागू करके dangers को पहचानने और रोकने के लिए नियमों के एक सेट की सहायता से आने वाले और बाहर जाने वाले ट्रैफ़िक का निरीक्षण करने के लिए किया जाता है।
  • फ़ायरवॉल का उपयोग personal और enterprise दोनों सेटिंग्स में किया जा सकता है, और mac, windows और linux कंप्यूटर सहित कई device एक built-in के साथ आते हैं।

Antivirus

  • Antivirus भी network security का एक आवश्यक घटक है। यह मूल रूप से एक एप्लिकेशन या सॉफ़्टवेयर है जिसका उपयोग इंटरनेट से आने वाले दुर्भावनापूर्ण सॉफ़्टवेयर से सुरक्षा प्रदान करने के लिए किया जाता है।
  • एक Antivirus का कार्य 3 मुख्य क्रियाओं पर आधारित होता है, पता लगाना, पहचानना और खतरों को दूर करना
  • Antivirus बाहरी खतरों के साथ-साथ आंतरिक खतरों से भी केवल सॉफ्टवेयर के माध्यम से कार्यान्वित होकर निपट सकता है।

FAQs:

Firewall का आविष्कार किसने किया था?

पहला फ़ायरवॉल प्रस्ताव, 1989 में डिजिटल इक्विपमेंट कार्पोरेशन (डीईसी) के जेफ मोगुल द्वारा आया था।

Firewall का सबसे सुरक्षित प्रकार कौन सा है?

प्रॉक्सी सर्वर फ़ायरवॉल का सबसे सुरक्षित प्रकार है।

Conclusion

दोस्तो उम्मीद करते है कि आप को हमारा यह Article अच्छा लगा होगा। आशा करते है की आपको Firewall क्या है और Firewall कैसे काम करता है इसकी जानकारी समझ आ गई होगी। आपको इसके बारे में पूरी जानकारी इस Article में मिली होगी। यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधारना होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीचे Comments में बता सकते हैं। आपको यह Article कैसा लगा हमें Comment मे जरूर बताना।

आपके विचारों से हमें कुछ नया सीखने और कुछ गलतिया सुधारने का मौका मिलेगा। यदि आपको हमारी यह post Firewall क्या है और Firewall कैसे काम करता है यह अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तो कृपया इस पोस्ट को अपने सभी दोस्तो के साथ और Social Networks जैसे कि WhatsApp, Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये।

धन्यवाद…!!!

इसे भी पढे

कृपया अपनी राय दे और अपना सवाल पूछे.......